सिकंदरपुर में निकलने वाला ऐतिहासिक महावीरी झंडा जुलूस देर रात सकुशल संपन्न

book this side for ads Welcome to sikanderpurlive


सिकंदरपुर (बलिया)। ऐतिहासिक महावीरी झंडा का जुलूस शुक्रवार की शाम को यहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच निकाला गया। जिसमें क्षेत्र के हजारों लोगों ने भाग लिया। इस दौरान जुलूस में शामिल युवकों ने शस्त्र कलाओं का हैरतअंगेज प्रदर्शन कर लोगों को दांतों तले अंगुली दबाने को विवश कर दिया।


लोगों द्वारा उनके प्रदर्शन को भरपूर सराहना मिली। जुलूस में शामिल भीड़ में रह रहकर जय महावीर के उद्घोष से नगर का वातावरण शुरू से अंत तक भक्तिमय बना रहा। पूरी में निकलने वाली रथ यात्रा की तर्ज पर प्रत्येक वर्ष यहां की आशाढ़ शुक्ल द्वितीय को उमंग और उल्लास के साथ जुलूस निकाला जाता है।


भ्रमण के दौरान सभी अख़ाड़ों में एक से बढ़कर एक सजी झांकियां चल रही थी। शामिल लोगों के मुख से एक ही गगनभेदी सदा जय महावीर बुलंद हो रहा था। सबसे पहले डोमनपुरा स्थित ठाकुर जी मंदिर अखाड़ा का जुलूस निकला। परंपरागत मार्गों पर भ्रमण के बाद यह जुलूस हॉस्पिटल तिराहा पर पहुंचकर खड़ा हो गया।


जुलूस के साथ चल रहे रथ पर सुभद्रा, बलभद्र और भगवान श्रीकृष्ण सवार थे। बाद में महावीर स्थान,भीखपुरा, गोला बाजार, मिल्की मोहल्ला, मानापुर, बड्ढ़ा, रहिलापाली, जलालीपुर, चकखान के जुलूस अपने अपने मोहल्ले से प्रस्थान कर परंपरागत मार्गो पर भ्रमण करने लगे उसके बाद में सभी जुलूस क्रमशः जल्पा चौक पहुंचा जहां से सभी जुलूस के रुप में देर रात डोमनपुरा स्थित ठाकुर जी मंदिर पहुंचकर समापन हुआ।

जुलूस में भ्रमण के दौरान अखाड़ों में शामिल तरह तरह की झांकियों को देखने के लिए सभी मार्गों पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। वही रहीला पाली से निकली योगी आदित्यनाथ की झांकी बरबस आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी हंटर पर सवार योगी आदित्यनाथ ब्लैक कमांडो से गिरे हुए थे तथा लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन करते हुए चल रहे थे, जिनको देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में स्त्री व पुरुष उनके अभिवादन को स्वीकार कर उनका स्वागत कर रहे थे। ट्रैक्टर-ट्रालियों पर झाकियों को आकर्षक रूप से सजाया गया था। बच्चों के मनोरंजन के लिए झांकियों के साथ तरह तरह के कार्टून भी चल रहे थे। जगह-जगह लोगों ने महावीर जी का दर्शन कर चढ़ावा चढ़ाया। जुलूस के मार्ग पर पड़ने वाले रशीदिया चौक, भीखपुरा चौक, डोमनपुरा चौक, जैसे अतिसंवेदनशील स्थानों को प्रशासन ने पूरी तरह पुलिस छावनी के रूप में तब्दील कर दिया था।


जुलूस को शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न कराने हेतु प्रशासन सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से निगरानी कर रहा था। आला अधिकारियों लगातार पल-पल की खबर ले रहे थे। झंडोत्सव को लेकर 1 सप्ताह पूर्व से ही नगर को केसरिया झंडे से पाट दिया गया था। जुलूस के भ्रमण वाले रास्ते पर जगह-जगह पानी की व्यवस्था की गई थी। अनेक स्थानों पर प्रसाद का वितरण किया गया।

युवा एकता कमेटी की तरफ से चौराहे पर प्रसाद वितरण के साथ ही फल का जूस पिलाने की उत्तम व्यवस्था की गई थी। जिसका उदघाटन भाजपा नेता डा. विजय रंजन ने फीता काटकर किया, जिसे जुलूस में शामिल लोगों ने ग्रहण किया। किसी प्रकार की कोई घटना नही घटी और महावीरी झंडा जुलूस धुमधाम के साथ सम्पन्न हुआ।

इस दौरान चप्पे चप्पे पर प्रशासन की पैनी निगाह बनी रही। सकुशल जुलूस सम्पन्न होने पर जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल, एसपी राजकरन नैय्यर, एएसपी दुर्गा प्रसाद तिवारी, उपजिलाधिकारी प्रशांत नायक, क्षेत्राधिकारी भूषण वर्मा जमें रहे। कस्बे को चार सेक्टर जोन में बांटा गया था । सेक्टर की जिम्मेदारी चार एसडीएम और चार सीओ के जिम्मे होगी । सुरक्षा व्यवस्था के लिए छतों पर भी पुलिस के जवान तैनात रहे । 20 सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से भी निगरानी की जा रही थी । जुलूस के साथ चार ड्रोन भी निगरानी करते हुए नजर आए ।

तीन दर्जन इंस्पेक्टर , पांच दर्जन सब इंस्पेक्टर , 400 पुलिस के जवान , 50 महिला पुलिसकर्मी, तीन कंपनी पीएसी , और फायर ब्रिगेड की गाड़ी शामिल रही।

कवरेज टीम- गोपाल गुप्ता, दुर्गेश कुमार, विनोद कुमार


For More Updates visit www.sikanderpurlive.com
For More Update visit sikanderpurlive
thanks for visiting sikanderpur live
For More Update visit sikanderpurlive
Previous Post Next Post