जानें आख़िर क्यों सिकंदरपुर नगर के सभी सभासदों ने चेयरमैन के खिलाफ एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

book this side for ads Welcome to sikanderpurlive


सिकन्दरपुर (गोपाल प्रसाद)। आदर्श नगर पंचायत में चेयरमैन द्वारा किये जा रहे घोटाले एवं भ्रष्टाचार को लेकर गुरुवार को सभासदों ने मोर्चा खोल दिया। सभासदों ने बृहस्पतिवार को तहसील में पहुंचकर उप जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर जांच की मांग किया। दिए गए पत्र में आरोप लगाया है कि आदर्श नगर पंचायत सिकन्दरपुर में सरकारी धनों का दुरूपयोग लगातार 3 वर्षाें से किया जा रहा है। 

नगर पंचायत का विकास कार्य केवल कागजों तक ही सीमित कर रह गया है। सभासदों ने आरोप लगाया है कि आज नगर पंचायत भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है। किसी भी कार्य को मानक के अनरूप नही कराया जा रहा है। बहुत से मरम्मत हुए कार्याे को नवनिर्माण कार्य कागज पर दिखा कर उसका भुगतान कराया जा रहा है। 

डीजल व पेट्रोल का भुगतान आवश्यकता से अधिक किया जा रहा है। नगर पंचायत के पानी सप्लाई से जो भी राशि प्राप्त होती है उसका कोई लेखा-जोखा नहीं है। सभासदों ने पिछले 3 सालों का डीजल पेट्रोल पर हुए व्यय व पानी की सप्लाई से मिली धन राशि को सार्वजनिक करने की मांग की है। सभासदों ने आरोप लगाया कि नगर पंचायत में आउटसोर्सिंग कर्मचारी चेयरमैन द्वारा अपने रिश्तेदारों एवं मित्रगणों को रखा गया है, जबकि वे लोग नगर पंचायत के कार्यों से अनजान है। 

कस्बे में नगर चेयरमैन की दवा की दुकान चलाते हैं और तनख्वाह नगर पंचायत के कार्यालय से दिया जाता है। पत्र के माध्यम से नगर पंचायत चौयरमैन पर हर महीने लाखो रुपये का भुगतान सेनिटाइजेशन, फ़ांगिंग मशीन से दवा का छिड़काव, कीटनाशक दवा का छिड़काव, चुना-ब्लीचिंग पावडर पर करने का आरोप लगाया गया जबकि जबकि धरातल पर किसी भी प्रकार की छिड़काव न होने की बात कही गयी है। 

पत्र में नगर पंचायत सिकन्दरपुर में जल्पा मन्दिर के पास स्थित सामुदायिक शौचालय के एक बड़े कमरे को चेयरमैन द्वारा अपने एक समर्थक का कब्ज़ा करवाने पर उस कमरे को जल्द से जल्द कब्जे से खाली करवाने व सार्वजनिक सम्पत्ति का निजी उपयोग करवाने के लिये चेयरमैन पर आवश्यक कार्यवाही भी करने की मांग भी की गई है। पत्र में सभासदो द्वारा आशंका ब्यक्त की गई है कि नगर पंचायत सिकन्दरपुर द्वारा सरकारी बजट से भारी मात्रा में डस्टबीन व एलईडी लाइट खरीदे गये है। ये डस्टबीन और लाइट किन्ही प्राइवेट फर्म को चेयरमैन द्वारा बेचा दिया गया है। 

उपजिलाधिकारी सिकन्दरपुर से सभासदो ने सभी माँगो को उच्चस्तरीय जांच करा कर दोषियों को दण्डित करने की मांग की। प्राथना पत्र देने वालो मे शबनम परवीन, राहुल रावत, घनश्याम मोदनवाल, पिंटू पाठक, मुमताज अहमद, रमेश यादव, लैला खातून, सोनमती देवी, इशरत जहां, नादिर अली, इंद्रावती देवी, सनबीर खातून, सहित नगर पंचायत के सभी सभासद मौजूद थे।

For More Updates visit www.sikanderpurlive.com
For More Update visit sikanderpurlive
thanks for visiting sikanderpur live
For More Update visit sikanderpurlive
Previous Post Next Post