जानें किस पूर्व मंत्री ने कहा कि छात्र, किसान विरोधी है वर्तमान भाजपा सरकार

पूर्व मंत्री


                          रिपोर्ट: गोपाल प्रसाद
सिकंदरपुर (बलिया)। केंद्र और प्रदेश की सरकार किसान व छात्र विरोधी है। नए- नए कानून बनाकर छात्रों और किसानों को बर्बाद करने पर तुली है। उक्त बातें समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री जियाउद्दीन रिजवी ने क्षेत्र के बछापार गांव में भाजपा छोड़कर सपा में शामिल हुए नौजवानों के सम्मान में आयोजित बैठक में कही। कहा कि केंद्र सरकार किसानों को बर्बाद करने पर तुली है। नया कानून बनाकर किसानों को कंगाल बनाना चाहती हैं, जिसका विरोध पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र आदि राज्यों में हो रहा है। विरोध कर रहे किसानों को लाठियों से पीटा जा रहा है। नए कानून में प्रावधान है कि फसल का एमएसपी नहीं बढ़ाया जाएगा। 
सरकार मंडियों और सरकारी कार्य केंद्र को बंद कर देगी। बिचौलिए के द्वारा ही अनाज खरीदे जाएंगे। इस कानून में यह भी प्रावधान है कि किसानों की जमीन उद्योगपतियों को कांट्रैक्ट पर दे दिया जाएगा और किसान को सरकार द्वारा निर्धारित रेट के हिसाब से ही पैसा पाएंगे। प्रदेश की योगी जी की सरकार ने काला कानून लाकर लाखों नौजवानों को बर्बाद करने का काम किया है। नए कानून के तहत अगर आपको सरकारी नौकरी लगती है। तो 5 साल संविदा पर रहना पड़ेगा।

हर 6 महीने पर आपके कार्य की समीक्षा होगी।कार्य संतोषजनक नहीं मिलने पर आपको नौकरी से निकाल दिया जाएगा। इसके पहले भी अटल बिहारी वाजपेई की सरकार ने कर्मचारियों की पेंशन बंद कर दी और आज मोदी व योगी की सरकार किसानों, छात्रों, नौजवानों व मजदूरों की रोजी रोटी पाने के सारे दरवाजे बंद कर दी है। आज प्रदेश का युवा निराश और हतोत्साहित है। 

अपने अधिकार के लिए सड़कों पर लाठियां खा रहा है। लेकिन इस बेरहम सरकार के कानों पर जू भी नहीं रेग रहा है। बैठक को गुरु लाल राजभर, वीर बहादुर वर्मा, तारकेश्वर राय, वीरू राय ,बृजेश यादव, मल्लू यादव आदि लोगों ने संबोधित किया। बैठक की अध्यक्षता राजेंद्र राय तथा संचालन संजय यादव ने किया।

For More Updates visit www.sikanderpurlive.com thanks for visiting sikanderpur live
Previous Post Next Post