एक देश , एक संविधान , एक कर तो एक पेंशन क्यों नहीं:राजीव


सिकंदरपुर - पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाली को लेकर जल्द ही अटेवा प्रदेश एवं देश में एक बड़ा आंदोलन करने की तैयारी की जा रही है जिसके तहत समस्त शिक्षक संस्थानों एवं कार्यालयों में पूर्ण तालाबंदी की जाएगी। उक्त उदगार है अटेवा प्रदेश संगठन मंत्री राजीव यादव का वह यहां एक मदरसे में आयोजित संगठन की बैठक में पदाधिकारियों एवं सदस्यों को संबोधित कर रहे थे। कहा कि जब हमारा एक देश और एक संविधान है एवं एक कर की बात की जा रही है तो देश में कर्मचारियों के लिए दोहरी पेंशन व्यवस्था नहीं होनी चाहिए। 1 अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त शिक्षक कर्मचारियों एवं अधिकारियों की पुरानी पेंशन व्यवस्था समाप्त कर दी गई थी एवं बाजार आधारित एनपीएस लागू किया गया जबकि वहीं दूसरी ओर एक अप्रैल 2005 के बाद निर्वाचित सांसद एवं विधायकों की पुरानी पेंशन व्यवस्था जारी है चाहे वह एक ही दिन के लिए क्यों न हो। 
जिला प्रभारी अभिषेक राय ने कहा कि पुरानी पेंशन व्यवस्था को लेकर पूरे जिले  के कर्मचारियों को जगाया जाएगा एवं मजबूती के साथ पुरानी पेंशन व्यवस्था की लड़ाई लड़ी जाएगी।इसी संदर्भ में बहुत जल्द ही एक जिला सम्मेलन का आयोजन जिला मुख्यालय पर किया जाएगा। नवीन सिन्हा ,सुनील यादव, खुर्शीद अहमद ,मोहम्मद इलियास, हामिद, नसीम अहमद, मोहम्मद आदिल, मौलाना अहमद सहित अन्य सदस्य उपस्थित रहे। अध्यक्षता मोहम्मद जाकिर हुसैन तथा संचालन इलियास अहमद ने किया।

sikanderpurlive.com
Previous Post Next Post