कवि और शायर अपनी रचनाओं के माध्यम से बुराइयों पर चोट करते हैं: मो. जियाउद्दीन रिजवी

सिकंदरपुर। कवि और शायर अपनी रचनाओं के माध्यम से समाज में व्याप्त बुराइयों पर चोट करता है. लोगों में राष्ट्र भक्ति का जज्बा भरने के साथ ही समाज को नई दिशा देने का काम करते है. उक्त बातें पूर्व मंत्री मोहम्मद जियाउद्दीन रिजवी ने सिवानकला गांव में प्रसिद्ध शायर रसिया मजीद के पुण्यतिथि समारोह को बतौर मुख्य अतिथि अपने संबोधन में कहा.

कहा कि वह सामयिक टिप्पणीकार व भविष्यवक्ता थे. जिनकी रचनाओं में इंगित बातें आगे चलकर सही साबित हुई है. कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ शायर शमशुद्दीन शाहिल द्वारा प्रस्तुत अपनी रचना धरती के पूत को सबूत होना चाहिए प्यारा मेरा देश मजबूत होना चाहिए से शुरू हुआ. तत्पश्चात कमालुद्दीन, मुरली, नईम, शहाबुद्दीन आदि शायरों व कवियों ने अपनी रचनाएं प्रस्तुत कर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया. बाद में मुख्य अतिथि ने कवि नियाज अहमद, इंद्रदेव यादव, जुल्फिकार इंडियन, जाहिद हुसैन को साफा बांध उन्हें सम्मानित किया. ग्राम प्रधान प्रतिनिधि जितेंद्र गुप्ता, डॉ मुसाफिर चौहान, विनोद शंकर गुप्त, शिव मुनि चौहान, रामचंद्र वर्मा ,राजेंद्र राजभर आदि मौजूद थे.


sikanderpurlive.com
Previous Post Next Post